ENTERTAINMENT

पद्मावत को लेकर इंडस्ट्री ने साधी रही चुप्पी, मगर अब खुल कर बोले हैं शाहरुख खान
(Yogesh Gautam) Dainikkhabre.com Wednesday,21 February , 2018)

New Delhi News, 21 Feb  2018 (Dainikkhabre.com) ;  अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत के विवाद को लेकर लगातार यह खबरें आती रहीं कि इस विवाद पर फिल्म इंडस्ट्री को जहां एक हो जाना चाहिए था, वही बड़ी फिल्मी हस्तियां इस पर कुछ नहीं बोले। उन्होंने चुप्पी साधी रखी। पद्मावत हालांकि रिलीज हो गयी है और अब जाकर शाहरुख खान ने इसे लेकर अपनी चुप्पी तोड़ दी है।

शाहरुख खान ने एक कार्यक्रम के दौरान खुल कर अपनी बात रखी है। शाहरुख ने साफतौर पर कहा है कि उन्होंने यह फैसला किसी डर की वजह से नहीं लिया था, बल्कि बेवजह के विवाद को और अधिक तूल न देने की वजह से लिया था। शााहरुख का कहना है कि लोगों ने जो यह सोच बना ली है कि बुरे दौर में इंडस्ट्री में एकता नहीं होती। स्टार्स एक नहीं होते, यह गलत है। जबकि हकीकत यह है कि जब इस तरह के मुद्दे आते हैं तो आपको कई बार अलग तरह से अपना साथ दिखाना पड़ता है। कोई भी डरा हुआ नहीं है और न ही कोई भी खुद को कहीं छुपाने की कोशिश कर रहा है। लेकिन लोग जो हमेशा स्टार्स को कहते रहते हैं कि फिल्म स्टार्स को तो केवल अपने पैसे बनाने से मतलब है। सोसाइटी के लिए वह कुछ नहीं सोचते। कुछ नहीं करते। सही नहीं है।शाहरुख ने कहा कि हम अपनी सोसाइटी को उतना ही प्यार करते हैं जितना कि कोई और करता है। हम इसलिए एंटरटेनिंग फिल्में बनाते हैं, ताकि हम सोसाइटी को हैप्पी रख सकें। उन्होंने यह भी कहा कि जब भी उनकी फिल्मों को लेकर कोई कंट्रोवर्सी होती है, वह अपनी टीम को कहते हैं कि शांत रहें, ताकि जो प्रोटेस्ट है तो उनको बढ़ावा न मिले। चूंकि हमारी फिल्मों का बिजनेस फिल्म की रिलीज के दिन और उसके कुछ दिन बात का ही मायने रखता है। अगर पहले कुछ दिन को ही नुकसान होगा, तो वह एक बड़ा नुकसान है। शाहरुख का मानना है कि अगर हम लगातार अस पर बात करते और शोर मचाते तो इससे आग को और बढ़ावा देने का काम करते और इसकी वजह से सारे चैनल्स पर उन्हें तवज्जो मिलती है, जो लोग उत्पात मचा रहे होते हैं। ऐसे में मेरा मानना है कि न्यूज चैनल को भी तवज्जो नहीं देना चाहिए।

Videos

slider by WOWSlider.com v8.6